Sunday, July 6, 2008

कुछ मशहूर शायरों से !

दिल खुश हुआ मस्जिदे वीरान देखकर
मेरी तरह खुदा का भी खाना ख़राब है !

5 comments:

Anonymous said...

bhut khub. likhate rhe.

36solutions said...

बढिया प्रयास है आपका, धन्यवाद । इस नये हिन्दी ब्लाग का स्वागत है ।

आरंभ ‘अंतरजाल में छत्तीसगढ का स्पंदन’

रश्मि प्रभा... said...

wah!
ye andaaj shaandaar laga

महामंत्री - तस्लीम said...

बहुत ही मस्त शेर है।
पर भई, शायर का नाम भी होता तो और मजा आता।

राज भाटिय़ा said...

बहुत खुब